साइबर अपराध रोकथाम विषय पर जागरूकता फैलाने के लिए केंद्र सरकार ने उठाए कदम

Date:

पलवल, (सरूप सिंह)। उपायुक्त कृष्ण कुमार ने बताया कि साइबर अपराध की रोकथाम के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए गृह मंत्रालय द्वारा @cyberDost नामक ट्विटर हैंडल लॉन्च किया गया है, जिस पर अभी तक लघु वीडियो, छवियों और रचनात्मक चीजों के माध्यम से 1066 से अधिक साइबर सुरक्षा टिप्स सांझा किए गए हैं। इसके 3 लाख 64 हजार से अधिक फॉलोवर हैं।

उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा इसी दिशा में रेडियो अभियान और जनता को साइबर अपराध जागरूकता के बारे में 100 करोड़ से अधिक एसएमएस. भेजे गए। साइबर अपराध रोकथाम और साइबर सुरक्षा टिप्स के बारे में विभिन्न मंचों पर वीडियो/जीआईएफ. के माध्यम से नियमित अंतराल पर प्रचार शुरू किया गया।

कुछ ऐसे हैं साइबर दोस्त के सोशल हैंडल्स
उपायुक्त कृष्ण कुमार ने बताया कि साइबर अपराध की रोकथाम के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए गृह मंत्रालय द्वारा विभिन्न सोशल मीडिया हैंडल्स बनाए गए हैं, जिनमें क्रमश: ट्विटर- https://twitter.com/Cyberdost, फेसबुक- https://www.facebook.com/CyberDosti4C, इंस्टाग्राम- https://www.instagram.com/cyberdosti4c, टेलीग्राम- https://t.me/cyberdosti4c शामिल हैं।

विद्यार्थियों के लिए हैंडबुक की गई प्रकाशित
आई4सी द्वारा साइबर अपराधों की रोकथाम के उद्देश्य से विभिन्न माध्यमों से प्रचार के लिए एमवाईजीओवी से अनुबंध किया गया है। साथ ही साइबर सुरक्षा विषय पर किशोर, छात्रों के लिए हैंडबुक भी प्रकाशित की गई है।

जागरूकता सप्ताह का किया गया आयोजन
सरकारी अधिकारियों के लाभ के लिए सूचना सुरक्षा सर्वोत्तम पद्धतियां प्रकाशित की गई। विभिन्न राज्यों में पुलिस विभाग के सहयोग से सी-डैक के माध्यम से साइबर सुरक्षा जागरूकता सप्ताह का आयोजन किया गया।

समय-समय पर जारी की चेतावनी
आई4सी द्वारा निवारक उपाय के रूप में राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों, मंत्रालयों/विभागों के साथ 148 साइबर अपराध परामर्श सांझा किए गए हैं। राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों को समय-समय पर चेतावनी/सलाह जारी की गई। दिल्ली मेट्रो से राष्ट्रीय साइबर अपराध रिपोर्टिंग पोर्टल और राष्ट्रीय टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर-1930 का प्रचार-प्रसार करने का आह्वान किया गया है। इंटरनेट सुरक्षा, ईमेल, मोबाइल सुरक्षा आदि के संबंध में बुनियादी साइबर स्वच्छता प्रदान करने के लिए जनवरी 2022 में साइबर स्पेस के लिए साइबर स्वच्छता- क्या करें और क्या न करें (मूल और उन्नत संस्करण) पर दो द्विभाषी मैनुअल जारी की गई। गृह मंत्रालय ने राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों से साइबर स्वच्छता विषय पर 6 अक्टूबर 2021 (बुधवार) से शुरूआत करते हुए हर महीने के पहले बुधवार को सुबह 11 बजे साइबर जागरूकता दिवस आयोजित करने व सभी स्कूलों और कॉलेजों के लिए स्थानीय भाषाओं में जन जागरूकता शुरू करने तथा इस संबंध में वार्षिक कार्रवाई योजना तैयार करने का आह्वान किया है।

स्कूलों में दी जाएगी शिक्षा
उन्होंने बताया कि शिक्षा मंत्रालय से आह्वान किया गया है कि कक्षा 6 से 12वीं तक सभी स्ट्रीम्स के लिए साइबर सुरक्षा और साइबर स्वच्छता में पाठ्यक्रम शुरू किए जाएं, ताकि केंद्र/राज्य/संघ राज्य क्षेत्र स्तर पर सभी सी.बी.एस.ई. स्कूलों में सभी छात्रों को बुनियादी जानकारी दी जा सके। आई4सी का त्रैमासिक न्यूजलेटर (पहला और दूसरा संस्करण) जनवरी 2022 में लॉन्च किया गया, ताकि विधि प्रवर्तन एजेंसियों और नीति निर्माताओं को साइबर अपराध के खतरे का मुकाबला करने के लिए जानकारी सांझा की जा सके। इस न्यूजलेटर में नवीनतम साइबर अपराध प्रवृत्तियां, साइबर अपराध आंकड़े, साइबर अपराधों की रोकथाम से संबंधित राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय घटनाएं आदि शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

गंगा और ब्रह्मïपुत्र नदियों की शक्ति को पहचानते हुए शुरू किये गए कार्गों: सोनोवाल

रोहतक, (प्राइम न्यूज़ ब्यूरो)। केंद्रीय बंदरगाह, शिपिंग, जलमार्ग एवं...

राजकीय विद्यालयों में आयोजित किए जाएंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम: राकेश गौतम

पलवल, (सरूप सिंह)। उपायुक्त कृष्ण कुमार के कुशल मार्गदर्शन...

देश की अर्थव्यवस्था में हरियाणा का महत्वपूर्ण योगदान: मुख्यमंत्री

नई दिल्ली, (प्राइम न्यूज़ ब्यूरो)। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर...

मांगपत्र लेकर विधायक राजेश नागर से मिले निगम कर्मचारी

फरीदाबाद, (सरूप सिंह)। विधायक राजेश नागर ने कहा कि...